Rama Navami Celebrations at Mahavir Mandir, Patna

Jai Sri Ram यावत्  स्थास्यन्ति गिरयः सरितश्च महीतले। तावद्  रामायणकथा लोकेषु प्रचरिष्यति।। Yāvat  sthāsyanti girayaḥ saritaśca  mahītalē Tāvad rāmāyaṇakathā lōkēṣu pracariṣyati The above sloka would mean that as long as … Read More

बिहार की गौरवमयी वैष्णव धारा – भाग-2

इसके लेखक पं. भवनाथ झा हैं. लेखक परिचय के लिए यहाँ क्लिक करें। शालग्राम क्षेत्र वाराह-पुराण में गण्डकी नदी के दोनों तट को शालग्राम क्षेत्र कहा गया है। इस पुराण के 144वें अध्याय में … Read More

मर्यादापुरुषोत्तम राम की ऐतिहासिकता – भाग-4

इसके लेखक आचार्य किशोर कुणाल, आई.पी.एस. (सेवानिवृत्त) हैं. लेखक परिचय के लिए यहाँ क्लिक करें। सातवाहन राजा वसिष्ठीपुत्र पुलुमावी (131-49 र्इ.) के नासिक-अभिलेख में राम- केशव, अर्जुन, भीम, नहुष, जनमेजय, सगर, … Read More